खेलकुद

Sports Authority of India has decided to resume the badminton national camp for eight Olympic-bound athletes at the Pullela Gopichand Badminton Academy in Hyderabad | सिंधु समेत 8 बैडमिंटन खिलाड़ियों ने 4 महीने बाद हैदराबाद में प्रैक्टिस शुरू की, कोच गोपीचंद बोले- टॉप शटलर्स की कोर्ट पर वापसी से खुश हूं

  • Hindi News
  • Sports
  • Sports Authority Of India Has Decided To Resume The Badminton National Camp For Eight Olympic bound Athletes At The Pullela Gopichand Badminton Academy In Hyderabad

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

तेलंगाना सरकार ने राज्य में 5 अगस्त से खेल गतिविधियों को शुरू करने की मंजूरी दी है। इसके बाद गोपीचंद एकेडमी में पीवी सिंधु ने ट्रेनिंग शुरू की। -फाइल

  • खिलाड़ियों को सुरक्षा देने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए एकेडमी को अलग-अलग रंगों के हिसाब से बांटा गया है
  • किदांबी श्रीकांत, साईं प्रणीत और डबल्स खिलाड़ी एन. सिक्की रेड्डी ने भी पुलेला गोपीचंद एकेडमी में ट्रेनिंग शुरू की

कोरोना के बीच टोक्यो ओलिंपिक में क्वालिफाई की उम्मीद रखने वाले 8 बैडमिंटन खिलाड़ियों का नेशनल कैंप शुक्रवार से हैदराबाद की पुलेला गोपीचंद एकेडमी में शुरू हो गया। इसमें पीवी सिंधु, किदांबी श्रीकांत, साईं प्रणीत, चिराग शेट्टी और एन. सिक्की रेड्डी इस कैंप में शामिल हैं।

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया(साई) ने यह फैसला तेलंगाना सरकार द्वारा एक अगस्त को दिए आदेश के बाद लिया। सरकार ने 5 अगस्त से राज्य में खेल गतिविधियां शुरू करने की मंजूरी दी है।

कोचिंग कैंप शुरू होने से टोक्यो गेम्स की तैयारी बेहतर होगी: गोपीचंद

ओलिंपिक के संभावित खिलाड़ियों का कैंप शुरू होने पर नेशनल बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद ने कहा कि मैं टॉप खिलाड़ियों की कोर्ट पर वापसी से बहुत खुश हूं। हम सुरक्षित माहौल में ट्रेनिंग करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

साई ने एकेडमी को अलग-अलग कलर जोन में बांटा

साई ने कहा है कि खिलाड़ियों को पूरी सुरक्षा देने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए एकेडमी को अलग-अलग रंगों के हिसाब से बांटा गया है। यहां सिर्फ खिलाड़ी और कोच ही आ सकेंगे। वहीं, सपोर्ट स्टाफ और एडमिनिस्ट्रेटर्स के लिए अलग जोन बनाए गए हैं और इन लोगों के प्लेइंग एरिया में जाने पर पाबंदी होगी।

ट्रेनिंग स्वास्थ मंत्रालय और साई द्वारा तय की गई गाइडलाइन को ध्यान में रखकर की जाएगी। साथ ही राज्य सरकार की गाइडलाइन का भी ध्यान रखा जाएगा।

0


Source link

Leave a Comment