अन्तर्राष्ट्रिय

राष्ट्रपति ने रेप के मामलों में सजा से जु़ड़े ऑर्डिनेंस पर साइन किए, अब ऐसे मामलों के दोषियों को मौत की सजा मिलेगी

  • Hindi News
  • International
  • President Signed Ordinance Related To Punishment In Rape Cases, Now The Culprits Of Such Cases Will Get Death Penalty

ढाका2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में सितंबर महीने में रेप विक्टिम के लिए न्याय की मांग करते हुए प्रदर्शन करती स्थानीय लड़कियां। -फाइल फोटो

  • प्रधानमंत्री शेख हसीना की अगुआई वाले मंत्रिमंडल ने दो दिन पहले महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा से जुड़े कानून में बदलाव को मंजूरी दी थी
  • बांग्लादेश में इस साल जनवरी से अगस्त के बीच 899 महिलाओं का रेप हुआ, इसी दौरान 192 लड़कियों के साथ दुष्कर्म की कोशिश हुई

बांग्लादेश में रेप के मामले में दोषी पाए जाने पर अब मौत की सजा होगी। राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद ने मंगलवार को इससे जुड़े ऑर्डिनेंस पर साइन किए। पहले इस मामले में अधिकतम उम्र कैद की सजा का प्रावधान था। सोमवार को प्रधानमंत्री शेख हसीना की अगुआई वाले मंत्रिमंडल ने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा से जुड़े कानून में बदलाव को मंजूरी दी थी। इसके बाद कानून को मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेज दिया गया था। बांग्लादेश के कानून मंत्री अनिसुल हक ने कहा- इस कानून से निश्चित तौर पर रेप के मामले कम होंगे। इसके साथ ही हम पूरी कोशिश करेंगे कि ऐसे मामलों की सुनवाई कोर्ट में सही ढंग से पूरी हो। सरकार महिलाओं और बच्चों के साथ अपराध होने पर किसी तरह की नरमी नहीं दिखाएगी।

देश में रेप की घटनाओं के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे

देश में बीते दिनों एक महिला के साथ रेप का वीडियो वायरल हुआ था। इसमें कुछ लोग महिला पर हमला और उसके साथ दुष्कर्म करते नजर आए थे। इसके बाद पूरे देश में कई जगहों पर प्रदर्शन हुए। लोगों ने सरकार से रेप के दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की थी। कई मानवाधिकार संगठनों ने सरकार पर महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को गंभीरता से नहीं लेने का आरोप लगाया था। इसके बाद सरकार ने कड़ी सजा का प्रावधान करने का भरोसा दिलाया था।

बीते 16 साल में रेप के सिर्फ 60 मामलों में दोषियों को सजा

बांग्लादेश में पिछले 16 साल में रेप की 4541 घटनाएं हुई हैं। इनमें से सिर्फ 60 मामलों में दोषियों को सजा मिली है। राइट्स ग्रुप ऐन ओ सालिश केंद्र के मुताबिक, देश में इस साल जनवरी से अगस्त के बीच 899 महिलाओं का रेप हुआ है। इसी दौरान 192 लड़कियों के साथ दुष्कर्म की कोशिश हुई, जिनमें से 9 ने खुदकुशी कर ली। औरतों के हक के लिए काम करने वाले एक्टिविस्ट्स के मुताबिक, कई मामलों में विक्टिम शिकायत तक नहीं करती। ऐसे में रेप के वास्तविक आंकड़े और ज्यादा हो सकते हैं।


Source link

Leave a Comment